ऐसी भक्ति कोई मत कीजिये भजन लिरिक्स | aisi bhakti nahi kijiye bhajan lyrics

1607

ऐसी भक्ति कोई मत कीजिये भजन लिरिक्स

ऐसी भक्ति कोई मत कीजिये aisi bhakti nahi kijiye , sant baba haridas ke bhajan, चेतावनी भजन लिरिक्स, marwadi bhajan songs

 दोहा ।।
गुरुमूर्ति मुख चन्द्रमा , सेवक नैन चकोर ।
अष्ट प्रहर निरखत रहूं , गुरु चरणन की ओर ।


~ ऐसी भगती नहीं कीजिए ~

ऐसी भगती नहीं कीजिए ,
जग में होवे हाँसी ।
अंत काल जम मारसी ,
गले में देदे फाँसी ।


बुगला बायर ऊजळा ,
भीतर कपटाई ।
आँख मींच मुनिजन भया ,
मछियाँ गटकाई ॥
ऐसी भगती। ….


मिणजारी सुण कथा ,
झूठा भारत कीना ।
कर से दीपक डार के ,
मूषा गर लीना ॥
ऐसी भगती। ….


जैसे लाखा पिघळे ,
पावक रे संगा ।
छिन एक दूर वो ले चले ,
होवे वज्र अंगा ॥
ऐसी भगती। ….


जैसे कुंजर जळ बसे ,
जळ वस्ती पूरा ।
जळ से बाहर नीकले ,
सिर लगावे धूरा ॥
ऐसी भगती। ….


केवे कबीरसा धर्मीदास ने ,
पाँचों से लड़िये ।
इण जुगड़े रे माँयने ,
जीवत ही मरिये ॥
ऐसी भगती। ….


जरूर पढ़ें :- साधु भाई मन रो कयो न कीजे

जरूर पढ़ें :- मुझे मेरी मस्ती कहाँ लेके आई

marwadi bhajan songs lyrics in English

!! aisi bhakti nahi kijiye !!

aisee bhagatee nahin keejie ,
jag mein hove haansee .
ant kaal jam maarasee ,
gale mein dede phaansee .


bugala baayar oojala ,
bheetar kapataee .
aankh meench munijan bhaya ,
machhiyaan gatakaee .
aisee bhagatee. ….


minajaaree sun katha ,
jhootha bhaarat keena .
kar se deepak daar ke ,
moosha gar leena .
aisee bhagatee. ….


jaise laakha pighale ,
paavak re sanga .
chhin ek door vo le chale ,
hove vajr anga .
aisee bhagatee. ….


jaise kunjar jal base ,
jal vastee poora .
jal se baahar neekale ,
sir lagaave dhoora .
aisee bhagatee. ….


keve kabeerasa dharmeedaas ne ,
paanchon se ladiye .
in jugade re maanyane ,
jeevat hee mariye .
aisee bhagatee. ….


जरूर पढ़ें :- चदरिया झीनी रे झीनी

जरूर पढ़ें :- भाव राखजो भगती

चेतावनी भजन लिरिक्स In Hindi

!! ऐसी भक्ति कोई मत कीजिये !!

ऐसी भगती नहीं कीजिए , जग में होवे हाँसी ।
अंत काल जम मारसी , गले में देदे फाँसी ।

बुगला बायर ऊजळा , भीतर कपटाई ।
आँख मींच मुनिजन भया , मछियाँ गटकाई ॥
ऐसी भगती। ….

मिणजारी सुण कथा ,झूठा भारत कीना ।
कर से दीपक डार के , मूषा गर लीना ॥
ऐसी भगती। ….

जैसे लाखा पिघळे , पावक रे संगा ।
छिन एक दूर वो ले चले , होवे वज्र अंगा ॥
ऐसी भगती। ….

जैसे कुंजर जळ बसे , जळ वस्ती पूरा ।
जळ से बाहर नीकले , सिर लगावे धूरा ॥
ऐसी भगती। ….

केवे कबीरसा धर्मीदास ने , पाँचों से लड़िये ।
इण जुगड़े रे माँयने , जीवत ही मरिये ॥
ऐसी भगती। ….

sant baba haridas ke bhajan Video

भजन :-  ऐसी भगती नहीं कीजिए
गायक :- संत हरिदास जी महाराज
लेबल :- राजस्थानी भजन

जरूर पढ़ें :- सत्संग अमर जड़ी

जरूर पढ़ें :- अगर है शौक मिलने का

पिछला लेखसाधु भाई मन रो कयो न कीजे भजन लिरिक्स | sadhu bhai man ro kyo na kije bhajan lyrics
अगला लेखजल को भेद बताओ ब्रह्मज्ञानी भजन लिरिक्स | jal ko bhed batao brahmgyani bhajan lyrics

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

14 − 1 =