नुगरा रे मुख सु राम नहीं निकले भजन लिरिक्स | nugra re mukh su ram nahi nikle bhajan lyrics

2514

नुगरा रे मुख सु राम नहीं निकले भजन लिरिक्स

नुगरा रे मुख सु राम नहीं निकले nugra re mukh su ram nahi nikle, जस्सू दास का भजन, nirguni bhajan lyrics, desi marwadi bhajan

 दोहा ।।
मात पीता परमात्मा , पति सेवा गुरु ज्ञान।
इनसे हिलमिल चालिये, वो नर चतुर सुजान।


~ राम नहीं निकले ~

नुगरा रे मुख सु राम नहीं निकले ,
केशर ढुळ गई गारा में ।
मोनखो जमारो एडो मत खोवो ,
सुकरत कर लो जमारा में ।


भैंस पदमणी ने हार पेरायो ,
आ काँहि समझे हारा में ।
ओढनी जाणे पेर नी जाणे ,
जनम गमायो गारा में ।
नुगरा रे मुख । …..


काँच रे महल में कुती सुलाई ,
रंग महल चौबारा में ।
एक काँच में दो दो कुतियाँ ,
भस भस मरगी जमारा में ।
नुगरा रे मुख । …..


हीरा ले मूरख ने दीना ,
दळवा बैठो सारां ने ।
हीरा री गत जोहरी जाणे ,
काँहि खबर गंवारां ने ॥
नुगरा रे मुख । …..


शील धरम तो आदू मारग ,
दया धरम तलवारां में ।
अमरनाथ सन्तों रे शरणे ,
जीत गयो जम द्वारा में ।
नुगरा रे मुख । …..


जरूर पढ़ें :-  दुनिया मतलब री मारा संतो

जरूर पढ़ें :- माँयलो जाणे अमर मारी काया

nirguni bhajan lyrics In English

!! nugra re mukh su ram nahi nikle !!

nugara re mukh su raam nahin nikale ,
keshar dhul gaee gaara mein .
monakho jamaaro edo mat khovo ,
sukarat kar lo jamaara mein .


bhains padamanee ne haar peraayo ,
aa kaanhi samajhe haara mein .
odhanee jaane per nee jaane ,
janam gamaayo gaara mein .
nugara re mukh . …..


kaanch re mahal mein kutee sulaee ,
rang mahal chaubaara mein .
ek kaanch mein do do kutiyaan ,
bhas bhas maragee jamaara mein .
nugara re mukh . …..


heera le moorakh ne deena ,
dalava baitho saaraan ne .
heera ree gat joharee jaane ,
kaanhi khabar ganvaaraan ne .
nugara re mukh . …..


sheel dharam to aadoo maarag ,
daya dharam talavaaraan mein .
amaranaath santon re sharane ,
jeet gayo jam dvaara mein .
nugara re mukh . …..


जरूर पढ़ें :- ले ले सुआ हरी नाम

जरूर पढ़ें :- सुन मारा मनवा वीर

nirguni bhajan lyrics In Hindi

!! नुगरा रे मुख सु राम नहीं निकले !!

नुगरा रे मुख सु राम नहीं निकले , केशर ढुळ गई गारा में ।
मोनखो जमारो एडो मत खोवो , सुकरत कर लो जमारा में ।

भैंस पदमणी ने हार पेरायो , आ काँहि समझे हारा में ।
ओढनी जाणे पेर नी जाणे , जनम गमायो गारा में ।
नुगरा रे मुख । …..

काँच रे महल में कुती सुलाई , रंग महल चौबारा में ।
एक काँच में दो दो कुतियाँ , भस भस मरगी जमारा में ।
नुगरा रे मुख । …..

हीरा ले मूरख ने दीना , दळवा बैठो सारां ने ।
हीरा री गत जोहरी जाणे , काँहि खबर गंवारां ने ॥
नुगरा रे मुख । …..

शील धरम तो आदू मारग , दया धरम तलवारां में ।
अमरनाथ सन्तों रे शरणे , जीत गयो जम द्वारा में ।
नुगरा रे मुख । …..

जस्सू दास का भजन | desi marwadi bhajan Video

भजन :- नुगरा रे मुख सु राम नहीं निकले
गायक :- जस्सू दास वैष्णव
लेबल :- राजस्थानी भजन

जरूर पढ़ें :-  पहला जेड़ा प्रेम हमेशा कोनी रेवे

जरूर पढ़ें :-  जोबन धन पावणा दिन चारा

पिछला लेखदुनिया मतलब री मारा संतो भजन लिरिक्स | duniya matlab ri mara santo bhajan lyrics
अगला लेखकारीगर मत ना भटके रे भजन लिरिक्स | karigar mat na bhatke re lyrics

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

12 − 2 =