हर घर में रावण बैठा इतने राम कहां से लाऊं भजन | har ghar mein ravan baitha itne ram kahan se laun Bhajan

4493

हर घर में रावण बैठा इतने राम कहां से लाऊं भजन

हर घर में रावण बैठा इतने राम कहां से लाऊं भजन kalyug betha maar kundali har ghar mein ravan baitha itne ram kahan se laun

 ~ कलयुग बैठा मार कुंडली ~

कलयुग बैठा मार कुंडली ,
जाऊ तो मै कहाँ जाऊँ।
अब हर घर में रावण बैठा ,
इतने राम कहा से लाऊ।


दशरत कौशल्या जैसे ,
मात पिता अब भी मिल जाये।
पर राम सा पुत्र मिले ना ,
जो आज्ञा ले वन जाये।
भरत लखन से भाई को में ,
ढूंढ कहा से अब लाऊ।
अब हर घर में रावण बैठा ,
इतने राम कहा से लाऊ।
कलयुग बैठा। …..


जिसे समजते हो अपना तुम ,
जड़े खोदता आज वही।
रामायण की बाते जैसे ,
लगती है सपना कोई।
तब थी दासी एक मंत्रा ,
आज वही घर घर पाऊ।
अब हर घर में रावण बैठा ,
इतने राम कहा से लाऊ।
कलयुग बैठा। …..


आज दास का खेम बना है ,
मालिक से तकरार करे।
सेवा भाव तो दूर रहा ,
वक्त पड़े तो वार करे।
हनुमान सा दास आज में ,
ढूंढ कहा से अब लाऊ।
अब हर घर में रावण बैठा ,
इतने राम कहा से लाऊ।
कलयुग बैठा। …..


रोंध रहे बगिया को देखो ,
खुद ही उसके रखवाले।
अपने घर की नीव खोदते ,
देखे मैंने घर वाले।
तब था घर का एक ही भेदी ,
आज वही हर घर पाऊ।
अब हर घर में रावण बैठा ,
इतने राम कहा से लाऊ।
कलयुग बैठा। …..


कलयुग बैठा मार कुंडली ,
जाऊ तो मै कहाँ जाऊँ।
अब हर घर में रावण बैठा ,
इतने राम कहा से लाऊ।


Read Also:- बोल सुवा राम राम

Read Also:- बोले मेरा सतगुरु अमृतवाणी

har ghar mein ravan baitha itne ram kahan se laun Bhajan English Lyrics

!! kalyug betha maar kundali !!

kalayug baitha maar kundalee ,
jaoo to mai kahaan jaoon.
ab har ghar mein raavan baitha ,
itane raam kaha se laoo.


dasharat kaushalya jaise ,
maat pita ab bhee mil jaaye.
par raam sa putr mile na ,
jo aagya le van jaaye.
bharat lakhan se bhaee ko mein ,
dhoondh kaha se ab laoo.
ab har ghar mein raavan baitha ,
itane raam kaha se laoo.
kalayug baitha. …..


jise samajate ho apana tum ,
jade khodata aaj vahee.
raamaayan kee baate jaise ,
lagatee hai sapana koee.
tab thee daasee ek mantra ,
aaj vahee ghar ghar paoo.
ab har ghar mein raavan baitha ,
itane raam kaha se laoo.
kalayug baitha. …..


aaj daas ka khem bana hai ,
maalik se takaraar kare.
seva bhaav to door raha ,
vakt pade to vaar kare.
hanumaan sa daas aaj mein ,
dhoondh kaha se ab laoo.
ab har ghar mein raavan baitha ,
itane raam kaha se laoo.
kalayug baitha. …..


rondh rahe bagiya ko dekho ,
khud hee usake rakhavaale.
apane ghar kee neev khodate ,
dekhe mainne ghar vaale.
tab tha ghar ka ek hee bhedee ,
aaj vahee har ghar paoo.
ab har ghar mein raavan baitha ,
itane raam kaha se laoo.
kalayug baitha. …..


kalayug baitha maar kundalee ,
jaoo to mai kahaan jaoon.
ab har ghar mein raavan baitha ,
itane raam kaha se laoo.


Read Also:-  ल्यादे रे ल्यादे सरजीवन बुटी ल्यादे

Read Also:-  संता री संगत सायरा बड़भागी नर पावे

कलयुग बेठा मर कुंडली लिरिक्स In Hindi

।। हर घर में रावण बैठा ।।

कलयुग बैठा मार कुंडली ,जाऊ तो मै कहाँ जाऊँ।
अब हर घर में रावण बैठा ,इतने राम कहा से लाऊ।

दशरत कौशल्या जैसे ,मात पिता अब भी मिल जाये।
पर राम सा पुत्र मिले ना ,जो आज्ञा ले वन जाये।
भरत लखन से भाई को में ,ढूंढ कहा से अब लाऊ।
अब हर घर में रावण बैठा ,इतने राम कहा से लाऊ।
कलयुग बैठा। …..

जिसे समजते हो अपना तुम ,जड़े खोदता आज वही।
रामायण की बाते जैसे ,लगती है सपना कोई।
तब थी दासी एक मंत्रा ,आज वही घर घर पाऊ।
अब हर घर में रावण बैठा ,इतने राम कहा से लाऊ।
कलयुग बैठा। …..

आज दास का खेम बना है ,मालिक से तकरार करे।
सेवा भाव तो दूर रहा ,वक्त पड़े तो वार करे।
हनुमान सा दास आज में ,ढूंढ कहा से अब लाऊ।
अब हर घर में रावण बैठा ,इतने राम कहा से लाऊ।
कलयुग बैठा। …..

रोंध रहे बगिया को देखो ,खुद ही उसके रखवाले।
अपने घर की नीव खोदते ,देखे मैंने घर वाले।
तब था घर का एक ही भेदी ,आज वही हर घर पाऊ।
अब हर घर में रावण बैठा ,इतने राम कहा से लाऊ।
कलयुग बैठा। …..

कलयुग बैठा मार कुंडली ,जाऊ तो मै कहाँ जाऊँ।
अब हर घर में रावण बैठा ,इतने राम कहा से लाऊ।

har ghar mein ravan baitha itne ram kahan se laun Video

भजन:- हर घर में रावण बैठा 
गायक :- मास्टर राणा
लेबल :- राजस्थानी भजन

Read Also:-  दुनिया चले न श्री राम के बिना

Read Also:-  हनुमान तुम्हारा क्या कहना

पिछला लेखबोल सुवा राम राम मीठी मीठी वाणी रे भजन लिरिक्स | bol suva ram ram mithi mithi vani re bhajan lyrics
अगला लेखआवो भेरूजी आवो भेरूजी भजन लिरिक्स | aao bheruji aao bheruji Bhajan Lyrics

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

seventeen − 11 =