जबरा जंगल में बैठी माता आवरा भजन लिरिक्स | jabra jangal mein bethi awara lavani bhajan

2592

जबरा जंगल में बैठी माता आवरा भजन लिरिक्स

जबरा जंगल में बैठी माता आवरा भजन लिरिक्स jabra jangal mein bethi awara mata ji bhajan Lyrics. avari mata lavani bhajan

 ~ जबरा जंगल में बैठी आवरा ~

जबरा जंगल में बैठी आवरा।
जग जननी जनम सुधार।
राठोडा कुल मजेदार ,
लीनो अवतार। २।


मंदिर बनियो बिच पहाड़ ,
लागे सोभा अनंत अपार।
सामे सरवर लम्बी पाल ,
पिछवाड़े बाजार।


सामे तो मूरत लागे सोवनी ,
सुन्दर पुष्पा रो श्रृंगार।
साडी सुरंगी लचदार ,
जड़िया जरकस तार।


शंख सेवा में विष्णु पुरियो ,
ब्रह्मा चारो वेद उचार ।
करे रे ध्यान त्रिपुरार ,
थारे दरबार।


52 भेरू ने चौसठ जोगणीया ,
निश दिन गावे मंगला चार।
भक्तो री भीड़ अपार ,
थारे दरबार।


दुखिया रा दुःख माँ पल में मेट दो ,
जननी दया दृस्टि धार।
मरता प्राणी रो प्राण उभार ,
नाव डूबी जाय।


स्वर्ण मुखुत सोवे शीश पर ,
केशर कुमकुम तिलक ललाट।
चढ़े मिष्ठान भर भर थाल ,
ना ना प्रकार।


नाहर ओढे बोले मोरिया ,
बोले कोयल राग मिलाय।
शंख सेहेनाइ बाजे लार ,
जालर री झंकार।


भक्ति बजरी चेन राम को ,
शिव शक्ति को आधार।
नाना शम्भू है बंसी लाल ,
गावे बारम्बार।


जबरा जंगल में बैठी आवरा।
जग जननी जनम सुधार।
राठोडा कुल मजेदार ,
लीनो अवतार। २।


Read Also:- मोरिया पाखड़ली दे दे

Read Also:- गुरुदेव करे सो होय रे मनवा

English Lyrics jabra jangal mein bethi awara Bhajan

!! Jabra Jangal Me Bethi Awara !!

jabara jangal mein baithee aavara.
jag jananee janam sudhaar.
raathoda kul majedaar ,
leeno avataar. 2.


mandir baniyo bich pahaad ,
laage sobha anant apaar.
saame saravar lambee paal ,
pichhavaade baajaar.


saame to moorat laage sovanee ,
sundar pushpa ro shrrngaar.
saadee surangee lachadaar ,
jadiya jarakas taar.


shankh seva mein vishnu puriyo ,
brahma chaaro ved uchaar .
kare re dhyaan tripuraar ,
thaare darabaar.


52 bheroo ne chausath joganeeya ,
nish din gaave mangala chaar.
bhakto ree bheed apaar ,
thaare darabaar.


dukhiya ra duhkh maan pal mein met do ,
jananee daya drsti dhaar.
marata praanee ro praan ubhaar ,
naav doobee jaay.

svarn mukhut sove sheesh par ,
keshar kumakum tilak lalaat.
chadhe mishthaan bhar bhar thaal ,
na na prakaar.


naahar odhe bole moriya ,
bole koyal raag milaay.
shankh sehenai baaje laar ,
jaalar ree jhankaar.


bhakti bajaree chen raam ko ,
shiv shakti ko aadhaar.
naana shambhoo hai bansee laal ,
gaave baarambaar.


jabara jangal mein baithee aavara.
jag jananee janam sudhaar.
raathoda kul majedaar ,
leeno avataar. 2.


Read Also:- रोजडा लोट्यो भर लि दो

Read Also:- थारा उड़ गया केश काला रे

Hindi Lyrics जबरा जंगल में बैठी माता आवरा bhajan

।। जबरा जंगल में बैठी आवरा ।।

जबरा जंगल में बैठी आवरा। जग जननी जनम सुधार।
राठोडा कुल मजेदार ,लीनो अवतार। २।

मंदिर बनियो बिच पहाड़ ,लागे सोभा अनंत अपार।
सामे सरवर लम्बी पाल ,पिछवाड़े बाजार।

सामे तो मूरत लागे सोवनी ,सुन्दर पुष्पा रो श्रृंगार।
साडी सुरंगी लचदार ,जड़िया जरकस तार।

शंख सेवा में विष्णु पुरियो ,ब्रह्मा चारो वेद उचार ।
करे रे ध्यान त्रिपुरार ,थारे दरबार।

52 भेरू ने चौसठ जोगणीया ,निश दिन गावे मंगला चार।
भक्तो री भीड़ अपार ,थारे दरबार।

दुखिया रा दुःख माँ पल में मेट दो ,जननी दया दृस्टि धार।
मरता प्राणी रो प्राण उभार ,नाव डूबी जाय।

स्वर्ण मुखुत सोवे शीश पर ,केशर कुमकुम तिलक ललाट।
चढ़े मिष्ठान भर भर थाल ,ना ना प्रकार।

नाहर ओढे बोले मोरिया ,बोले कोयल राग मिलाय।
शंख सेहेनाइ बाजे लार ,जालर री झंकार।

भक्ति बजरी चेन राम को ,शिव शक्ति को आधार।
नाना शम्भू है बंसी लाल ,गावे बारम्बार।

जबरा जंगल में बैठी आवरा। जग जननी जनम सुधार।
राठोडा कुल मजेदार ,लीनो अवतार। २।

जबरा जंगल में बैठी माता आवरा bhajan Video

भजन :- जबरा जंगल में बैठी आवरा
गायक :- मोहिनुद्दीन मनचला
लेबल :- राजस्थानी भजन

Read Also:- घुमा दे मारा बालाजी घमड़ घमड़ घोटो

Read Also:- उसका दुश्मन क्या कर सकता

पिछला लेखमोरिया पांखड़ली दे दे सांसेरा गांव री भजन लिरिक्स | moriya pakhdali dede jal devi bhajan Lyrics
अगला लेखगोकुल की गुजरिया लाडवा लागी रे मारा सांवरिया भजन लिरिक्स | gokul ki gujariya ladwa lagi bhajan Lyrics

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

6 − two =