बिना शीश की पनिहारी भजन लिरिक्स | bina shish ki panihari bhajan Lyrics

3070

बिना शीश की पनिहारी भजन लिरिक्स bina shish ki panihari Lyrics

बिना शीश की पनिहारी भजन लिरिक्स bina shish ki panihari bhajan Lyrics gopal das bhajan Hindi Text Lyrics

।। दोहा ।।
नहीं मोती समंद खान का , नहीं सीप का चारा।
बिना पाल का समंद मायला ,साचा मोती सारा।।


~ बिना शीश की पनिहारी ~

भव बिन खेत खेत वन वाडी ,
ए जल बिन रेत जलबाई।
बिन डोरी जल भरे कुआ पर ,
बिना शीश की पनिहारी।


अरे सिर पर घडो घड़ा पर जारी,
देह पकड़ कर तू चाली। २
विनती करू उतार बेवड़ो ,
देखे धरयानी मुस्कानी । ओजी ।
भव बिन खेत। ……


अरे बिना रे जल के करे रसोई ,
सासु नंनद की ओ प्यारी। २
देकत फुक बजे सालुखी ,
चतुर नार की चतुराई। ओजी ।
भव बिन खेत। ……


अरे बिन धरनी एक बाग़ लगाया ,
बना जला एक भेल चढ़ी। २
बिना शीश का था एक मिरगा ,
पानी में रमता घडी घडी। ओजी ।
भव बिन खेत। ……


अरे धनिष बाण ले चढ़ीया शिकारी ,
नांदन वे पर बाग़ चढ़ी।
मिरगा को मार जमी पर डाला ,
ना मिरगा को चोट लगी। ओजी ।
भव बिन खेत। ……


अरे कहत कबीर बा सुन भाई साधु ,
ये पद है कोई निर्वाणी।
इणीं भजन की करे खोजना ,
वोही जन्त है सुरजाणीं। ओजी ।
भव बिन खेत। ……


भव बिन खेत खेत वन वाडी ,
ए जल बिन रेत जलबाई।
बिन डोरी जल भरे कुआ पर ,
बिना शीश की पनिहारी।


Read Also:- मोहन आवो तो सरी

Read Also:- थाली भर के लाई खीचड़ो

gopal das bhajan Text . bina shish ki panihari English Lyrics.rajasthani bhajan

!! Bina Shis Ki Panihari !!

bhav bin khet khet van vaadee ,
e jal bin ret jalabaee.
bin doree jal bhare kua par ,
bina sheesh kee panihaaree.


are sir par ghado ghada par jaaree,
deh pakad kar too chaalee. 2
vinatee karoo utaar bevado ,
dekhe dharayaanee muskaanee . ojee .
bhav bin khet. ……


are bina re jal ke kare rasoee ,
saasu nannad kee o pyaaree. 2
dekat phuk baje saalukhee ,
chatur naar kee chaturaee. ojee .
bhav bin khet. ……


are bin dharanee ek baag lagaaya ,
bana jala ek bhel chadhee. 2
bina sheesh ka tha ek miraga ,
paanee mein ramata ghadee ghadee. ojee .
bhav bin khet. ……


are dhanish baan le chadheeya shikaaree ,
naandan ve par baag chadhee.
miraga ko maar jamee par daala ,
na miraga ko chot lagee. ojee .
bhav bin khet. ……


are kahat kabeer ba sun bhaee saadhu ,
ye pad hai koee nirvaanee.
ineen bhajan kee kare khojana ,
vohee jant hai surajaaneen. ojee .
bhav bin khet. ……


bhav bin khet khet van vaadee ,
e jal bin ret jalabaee.
bin doree jal bhare kua par ,
bina sheesh kee panihaaree.


Read Also:- मनवा राम सुमर मेरा भाई रे

Read Also:- गुरु शब्द पहचान जगत में

gopal das vaishnav bhajan lyrics in hindi

।। बिना शीश की पनिहारी ।।

भव बिन खेत खेत वन वाडी ,ए जल बिन रेत जलबाई।
बिन डोरी जल भरे कुआ पर ,बिना शीश की पनिहारी।

अरे सिर पर घडो घड़ा पर जारी,देह पकड़ कर तू चाली। २
विनती करू उतार बेवड़ो ,देखे धरयानी मुस्कानी । ओजी ।
भव बिन खेत। ……

अरे बिना रे जल के करे रसोई ,सासु नंनद की ओ प्यारी। २
देकत फुक बजे सालुखी ,चतुर नार की चतुराई। ओजी ।
भव बिन खेत। ……

अरे बिन धरनी एक बाग़ लगाया ,बना जला एक भेल चढ़ी। २
बिना शीश का था एक मिरगा ,पानी में रमता घडी घडी। ओजी ।
भव बिन खेत। ……

अरे धनिष बाण ले चढ़ीया शिकारी ,नांदन वे पर बाग़ चढ़ी।
मिरगा को मार जमी पर डाला ,ना मिरगा को चोट लगी। ओजी ।
भव बिन खेत। ……

अरे कहत कबीर बा सुन भाई साधु ,ये पद है कोई निर्वाणी।
इणीं भजन की करे खोजना ,वोही जन्त है सुरजाणीं। ओजी ।
भव बिन खेत। ……

भव बिन खेत खेत वन वाडी ,ए जल बिन रेत जलबाई।
बिन डोरी जल भरे कुआ पर ,बिना शीश की पनिहारी।

bina shish ki panihari video | gopal das vaishnav bhajan

भजन :- बिना शीश की पनिहारी
गायक :- गोपाल दास वैष्णव
लेबल :- राजस्थानी भजन

Read Also:- काला पण  गणा रुपाला सा

Read Also:- आ लोट के आजा हनुमान

पिछला लेखआ लोट के आजा हनुमान भजन लिरिक्स | aa lot ke aaja hanuman bhajan Lyrics
अगला लेखबता मेरे यार सुदामा रे भाई घने दिना में आया भजन लिरिक्स | mere yaar sudama re bhajan with lyrics

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

11 − ten =