कालों में महाकाल कहावे भजन लिरिक्स | kalan me mahakal kahau mahakal ke bhajan lyrics

1338

कालों में महाकाल कहावे भजन लिरिक्स

कालों में महाकाल कहावे भजन लिरिक्स alan me mahakal kahau jagdish vaishnav bhajan mahakal ke bhajan

।। दोहा ।।
शीश चंद्र गले शेषनाग , और बाघम्बर धारी।
कर में डमरू त्रिशूल सोहे , नंदी की असवारी।


~ कालन में महाकाल कहाऊ ~

कालन में महाकाल कहाऊ ,
देवा में महादेव हरे।
नहीं बुरो नहीं जाल है मारे ,
मारा घर को नावटो कुणी करे।


लक्मी पति गरुड़ चढ़ आवे ,
मारी दर्शन इच्छा पूरी करे।
गरुड़ देख कर नाग ये मारा ,
बिल देख ने गुस्या भिरे।
कालन में महाकाल। …….


गणो लाड़लो बैठो गजानंद ,
या दुनिया पूजा प्रथम करे।
लम्बी पूछ को लावे उंदरों ,
मारी जटा क़तर नुकसान करे।
कालन में महाकाल। …….


कार्तिक कैलाश में आवे ,
मोर की सवारी करे।
छतर कर कर नाचे मोरियो ,
मोर देख मारा नाग डरे।
कालन में महाकाल। …….


मारे सवारी है नांदिया की ,
यो हरियो हरियो घास चरे।
घर की लुगाई बैठे नार पे ,
नार देख नन्द बाबो फिरे।
कालन में महाकाल। …….


ग्यारा मुंडा दोई बाप बेटा के,
बारवो हाथी पेट भरे।
घर को धनी धूणी पे बैठे,
काम कोड़ी को ना ही करे।
कालन में महाकाल। …….


असल दाळीदर नाम है मारो ,
छीजन सु मारे गाठ भरे।
पाप को पाणी कोई नहीं पीवे ,
बेन मारी घर घर फिरे।
कालन में महाकाल। …….


मरिया पशु को लावे चामडो ,
इससे मारो सिंगार करे।
भचु पकड़ करे मने धधुने ,
एक पड़े और दो उगडे।
कालन में महाकाल। …….


दुःख सुख तो आवे और जावे ,
धुप छाया का खेल करे।
हरी करे सो खरी उकारा ,
गुरु चेतन बेडा पार करे।
कालन में महाकाल। …….


कालन में महाकाल कहाऊ ,
देवा में महादेव हरे।
नहीं बुरो नहीं जाल है मारे ,
मारा घर को नावटो कुणी करे।


Read Also:- नर नारायण री देह बनाई

Read Also:- समय को भरोसो कोनी


mahakal ke bhajan Hindi Lyrics.jagdish vaishnav bhajan .bholenath bhajan Text

!! Kalan Me Mahakal Kahau !!

kaalan mein mahaakaal kahaoo ,
deva mein mahaadev hare.
nahin buro nahin jaal hai maare ,
maara ghar ko naavato kunee kare.


lakmee pati garud chadh aave ,
maaree darshan ichchha pooree kare.
garud dekh kar naag ye maara ,
bil dekh ne gusya bhire.
kaalan mein mahaakaal. …….


gano laadalo baitho gajaanand ,
ya duniya pooja pratham kare.
lambee poochh ko laave undaron ,
maaree jata qatar nukasaan kare.
kaalan mein mahaakaal. …….


kaartik kailaash mein aave ,
mor kee savaaree kare.
chhatar kar kar naache moriyo ,
mor dekh maara naag dare.
kaalan mein mahaakaal. …….


maare savaaree hai naandiya kee ,
yo hariyo hariyo ghaas chare.
ghar kee lugaee baithe naar pe ,
naar dekh nand baabo phire.
kaalan mein mahaakaal. …….


gyaara munda doee baap beta ke,
baaravo haathee pet bhare.
ghar ko dhanee dhoonee pe baithe,
kaam kodee ko na hee kare.
kaalan mein mahaakaal. …….


asal daaleedar naam hai maaro ,
chheejan su maare gaath bhare.
paap ko paanee koee nahin peeve ,
ben maaree ghar ghar phire.
kaalan mein mahaakaal. …….


mariya pashu ko laave chaamado ,
isase maaro singaar kare.
bhachu pakad kare mane dhadhune ,
ek pade aur do ugade.
kaalan mein mahaakaal. …….


duhkh sukh to aave aur jaave ,
dhup chhaaya ka khel kare.
haree kare so kharee ukaara ,
guru chetan beda paar kare.
kaalan mein mahaakaal. …….


kaalan mein mahaakaal kahaoo ,
deva mein mahaadev hare.
nahin buro nahin jaal hai maare ,
maara ghar ko naavato kunee kare.


Read Also:- क्या लेके आया बंदे

Read Also:- चेला वही चीज लाना रे


jagdish vaishnav bhajan lyrics in hindi

।। कालन में महाकाल कहाऊ ।।

कालन में महाकाल कहाऊ ,देवा में महादेव हरे।
नहीं बुरो नहीं जाल है मारे ,मारा घर को नावटो कुणी करे।

लक्मी पति गरुड़ चढ़ आवे ,मारी दर्शन इच्छा पूरी करे।
गरुड़ देख कर नाग ये मारा ,बिल देख ने गुस्या भिरे।
कालन में महाकाल। …….

गणो लाड़लो बैठो गजानंद ,या दुनिया पूजा प्रथम करे।
लम्बी पूछ को लावे उंदरों ,मारी जटा क़तर नुकसान करे।
कालन में महाकाल। …….

कार्तिक कैलाश में आवे ,मोर की सवारी करे।
छतर कर कर नाचे मोरियो ,मोर देख मारा नाग डरे।
कालन में महाकाल। …….

मारे सवारी है नांदिया की ,यो हरियो हरियो घास चरे।
घर की लुगाई बैठे नार पे ,नार देख नन्द बाबो फिरे।
कालन में महाकाल। …….

ग्यारा मुंडा दोई बाप बेटा के,बारवो हाथी पेट भरे।
घर को धनी धूणी पे बैठे,काम कोड़ी को ना ही करे।
कालन में महाकाल। …….

असल दाळीदर नाम है मारो ,छीजन सु मारे गाठ भरे।
पाप को पाणी कोई नहीं पीवे ,बेन मारी घर घर फिरे।
कालन में महाकाल। …….

मरिया पशु को लावे चामडो ,इससे मारो सिंगार करे।
भचु पकड़ करे मने धधुने ,एक पड़े और दो उगडे।
कालन में महाकाल। …….

दुःख सुख तो आवे और जावे ,धुप छाया का खेल करे।
हरी करे सो खरी उकारा ,गुरु चेतन बेडा पार करे।
कालन में महाकाल। …….

कालन में महाकाल कहाऊ ,देवा में महादेव हरे।
नहीं बुरो नहीं जाल है मारे ,मारा घर को नावटो कुणी करे।

mahakal bholenath bhajan video

भजन :- कालन में महाकाल कहाऊ
गायक :- जगदीश वैष्णव
लेबल :- राजस्थानी भजन

Read Also:- लिख दो मारे रोम रोम में

Read Also:- सबदा की चोट नागा नुगरा के नहीं लागे

पिछला लेखशिवजी रो मनड़ो मोयो भीलनी रंगीली लिरिक्स | shiv ji mando moyo re bhilni rangili bhajan Lyrics
अगला लेखजाबा दो सहेलियां भोलानाथ लड़ेगा भजन लिरिक्स | jaba do saheliya shiv ji bhajan Lyrics bholenath bhajan

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

four × two =