तानागिर माई कुचामणी भजन लिरिक्स | Kuchamani Bhajan Pragtiya Banvari Bhajana Hindi Lyrics,

639

तानागिर माई कुचामणी भजन लिरिक्स

तानागिर माई कुचामणी भजन लिरिक्स pragtiya banvari ,rajasthani kuchamani bhajan,

 ~ तानागिर माई प्रगटिया बनवारी ~  

 ऐ प्रगटिया बनवारी ,
ओ मुल्क मेवाड़ में ।
तानागिर माई ,
प्रगटिया बनवारी।२


ऐजी तानानगर ,
एक बाजु मायने। 
ऐ मंगरो एक महान ,
प्रभु मंगरो एक महान। २


ऐजी जूनो जुगाजी ,
धुनिया तापे। 
कई एक संत सुजान ,
मणि में कई एक संत सुजान। २


ऐजी कई एक संत सुजानबनी के मायने ,
पण नाग रूप धर घर सधिना ,
ओ आयके तानागिर माई ,प्रगटिया बनवारी।
ओ जी रे। …….    ओ मुल्क मेवाड़ में। 
तानागिर माई ,प्रगटिया बनवारी


ऐजी देख रूप ,
एक विकराल नाग को। 
ऐ  ग्वालिया मतों बनाया ,
बीरा ग्वालिया मतों बनाया।


ऐजी भील मायने ,
पांच हज पिया।
कैसो खेल रचायो ,
बीरा खेल रचायो।


ऐजी कैसो खेल रचायो ,भक्ता के कारने। 
पल भील मायनु  गिरधर निकल्या ऐ बारने। 
तानागिर माई ,प्रगटिया बनवारी।
ओ जी रे। …….  ओ मुल्क मेवाड़ में। 
तानागिर माई ,प्रगटिया बनवारी।


ऐजी सीमाड़ा की, 
एक लाण पड़ी। 
जद  पंचा के मजधार ,
बीरा पंचा के मजधार।


ऐजी राड मेटबा ,
चालो बीचमे। 
आन खड़ी  सरकार ,
बीरा आन खड़ी सरकार।


ऐजी आन खड़ी  सरकार, मूरत कभी जय करी। 
पण राज कचेरिया कर पाछण में , लाग री। 
 तानागिर माई ,प्रगटिया बनवारी। 
ओ जी रे। …….    ओ मुल्क मेवाड़ में। 
तानागिर माई ,प्रगटिया बनवारी


ऐजी धन धन भाग ,
जाग्या धरती का। 
श्री मूंगाणा के माई ,
बीरा मूंगाणा के माई।


ऐजी थाली मांदल ,
ढोल नगाड़ा। 
सेहनाया घरनाय  ,
ऐ घोखड़ा सेहनाया घरनाय।


ऐजी सेहनाया घरनाय घोखड़ा मायने। 
श्री सांवरिया बिराज्या सिखर मंद , मायने। 
तानागिर माई ,प्रगटिया बनवारी। 
ओ जी रे। …….    ओ मुल्क मेवाड़ में। 
तानागिर माई ,प्रगटिया बनवारी।


ऐजी महन्त श्री चेतन जी स्वामी ,
एक संत बड़ा उपकारी ,
जग संत बड़ा उपकारी।


ऐजी जीत मन से जो ध्यावे ,
जाकी लाज राखे बनवारी ,
देखो लाज राखे बनवारी।


ऐजी लाज राखे बनवारी ,मेटे संताप हे 
पण हाथ जोड़ ओमकार अरज करे आपने 
तानागिर माई ,प्रगटिया बनवारी। 
ओ जी रे। …….    ओ मुल्क मेवाड़ में। 
तानागिर माई ,प्रगटिया बनवारी।


 Pragtiya Banvari Hindi Bhajan Lyrics ,rajasthani Kuchamani Bhajan text Lyrics
 

!! Pragtiya Banvari !!  

ai pragatiya banavaaree ,
o mulk mevaad mein .
taanaagir maee ,
pragatiya banavaaree.2


aijee taanaanagar ,
ek baaju maayane.
ai mangaro ek mahaan ,
prabhu mangaro ek mahaan. 2


aijee joono jugaajee ,
dhuniya taape.
kaee ek sant sujaan ,
mani mein kaee ek sant sujaan. 2


aijee kaee ek sant sujaanabanee ke maayane ,
pan naag roop dhar ghar sadhina ,
o aayake taanaagir maee ,pragatiya banavaaree.
o jee re. ……. o mulk mevaad mein.
taanaagir maee ,pragatiya banavaaree


aijee dekh roop ,
ek vikaraal naag ko.
ai gvaaliya maton banaaya ,
beera gvaaliya maton banaaya.


aijee bheel maayane ,
paanch haj piya.
kaiso khel rachaayo ,
beera khel rachaayo.


aijee kaiso khel rachaayo ,bhakta ke kaarane.
pal bheel maayanu giradhar nikalya ai baarane.
taanaagir maee ,pragatiya banavaaree.
o jee re. ……. o mulk mevaad mein.
taanaagir maee ,pragatiya banavaaree.


aijee seemaada kee,
ek laan padee.
jad pancha ke majadhaar ,
beera pancha ke majadhaar.


aijee raad metaba ,
chaalo beechame.
aan khadee sarakaar ,
beera aan khadee sarakaar.


aijee aan khadee sarakaar, moorat kabhee jay karee.
pan raaj kacheriya kar paachhan mein , laag ree.
taanaagir maee ,pragatiya banavaaree.
o jee re. ……. o mulk mevaad mein.
taanaagir maee ,pragatiya banavaaree


aijee dhan dhan bhaag ,
jaagya dharatee ka.
shree moongaana ke maee ,
beera moongaana ke maee.


aijee thaalee maandal ,
dhol nagaada.
sehanaaya gharanaay ,
ai ghokhada sehanaaya gharanaay.


aijee sehanaaya gharanaay ghokhada maayane.
shree saanvariya biraajya sikhar mand , maayane.
taanaagir maee ,pragatiya banavaaree.
o jee re. ……. o mulk mevaad mein.
taanaagir maee ,pragatiya banavaaree.


aijee mahant shree chetan jee svaamee ,
ek sant bada upakaaree ,
jag sant bada upakaaree.


aijee jeet man se jo dhyaave ,
jaakee laaj raakhe banavaaree ,
dekho laaj raakhe banavaaree.


aijee laaj raakhe banavaaree ,mete santaap he
pan haath jod omakaar araj kare aapane
taanaagir maee ,pragatiya banavaaree.
o jee re. ……. o mulk mevaad mein.
taanaagir maee ,pragatiya banavaaree.


 Pragtiya Banvari Hindi Bhajan Lyrics ,rajasthani Kuchamani Bhajan text Lyrics

~ प्रगटिया बनवारी ~

ऐ प्रगटिया बनवारी , ओ मुल्क मेवाड़ में ।
तानागिर माई ,प्रगटिया बनवारी।२

ऐजी तानानगर , एक बाजु मायने।
ऐ मंगरो एक महान ,प्रभु मंगरो एक महान। २

ऐजी जूनो जुगाजी ,धुनिया तापे।
कई एक संत सुजान ,मणि में कई एक संत सुजान। २

ऐजी कई एक संत सुजानबनी के मायने ,
पण नाग रूप धर घर सधिना ,
ओ आयके तानागिर माई ,प्रगटिया बनवारी।
ओ जी रे। …….    ओ मुल्क मेवाड़ में।
तानागिर माई ,प्रगटिया बनवारी

ऐजी देख रूप , एक विकराल नाग को।
ऐ  ग्वालिया मतों बनाया ,बीरा ग्वालिया मतों बनाया।

ऐजी भील मायने ,पांच हज पिया
कैसो खेल रचायो ,बीरा खेल रचायो।

ऐजी कैसो खेल रचायो ,भक्ता के कारने।
पल भील मायनु  गिरधर निकल्या ऐ बारने।
तानागिर माई ,प्रगटिया बनवारी।
ओ जी रे। …….  ओ मुल्क मेवाड़ में।
तानागिर माई ,प्रगटिया बनवारी।

ऐजी सीमाड़ा की,  एक लाण पड़ी।
जद  पंचा के मजधार ,बीरा पंचा के मजधार।

ऐजी राड मेटबा चालो बीचमे।
आन खड़ी  सरकार , बीरा आन खड़ी  सरकार।

ऐजी आन खड़ी  सरकार, मूरत कभी जय करी।
पण राज कचेरिया कर पाछण में , लाग री।
तानागिर माई ,प्रगटिया बनवारी।
ओ जी रे। …….    ओ मुल्क मेवाड़ में।
तानागिर माई ,प्रगटिया बनवारी

ऐजी धन धन भाग , जाग्या धरती का।
श्री मूंगाणा के माई , बीरा मूंगाणा के माई।

ऐजी थाली मांदल ढोल नगाड़ा।
सेहनाया घरनाय  , ऐ घोखड़ा सेहनाया घरनाय।

ऐजी सेहनाया घरनाय घोखड़ा मायने।
श्री सांवरिया बिराज्या सिखर मंद , मायने।
तानागिर माई ,प्रगटिया बनवारी।
ओ जी रे। …….    ओ मुल्क मेवाड़ में।
तानागिर माई ,प्रगटिया बनवारी।

ऐजी महन्त श्री चेतन जी स्वामी ,
एक संत बड़ा उपकारी , जग संत बड़ा उपकारी।

ऐजी जीत मन से जो ध्यावे ,
जाकी लाज राखे बनवारी ,देखो लाज राखे बनवारी।

ऐजी लाज राखे बनवारी ,मेटे संताप हे
पण हाथ जोड़ ओमकार अरज करे आपने
तानागिर माई ,प्रगटिया बनवारी।
ओ जी रे। …….    ओ मुल्क मेवाड़ में।
तानागिर माई ,प्रगटिया बनवारी।

भजन :- प्रगटिया बनवारी
गायक :- जगदीश वैष्णव
लेबल :- राजस्थानी भजन
पिछला लेखबीरा म्हारा रामदेव रे लिरिक्स | bira mara ramdev bhajan lyrics ramdev ji bhajan
अगला लेख काछबो ने काछबी रेता रे जल में भजन | kachbo ne kachbi bhajan Bhajan Text Hindi Lyrics

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

one × 4 =