दुनिया उलटी रीत चलावे भजन लिरिक्स | Duniya Ulti Reet Chalave Bhajan text lyrics

1469

दुनिया उलटी रीत चलावे भजन लिरिक्स

दुनिया उलटी रीत चलावे भजन लिरिक्स duniya ulti rit chalave bhajan, heera lal rav bhajan

।। दोहा ।।
कबीर मंदिर लाख का, जडियां हीरे लालि ।
दिवस चारि का पेषणा, बिनस जाएगा कालि ॥


~ दुनिया उल्टी रीत चलावे ~

दुनिया उल्टी रीत चलावे।
ज्याने ज़रा सरम नहीं आवे। २


अरे माता जी सु , बेटो मांगे।
ये तो एक बकरा के सागे। २
अपना बेटा ने लाड लड़ावे।
तुजा को मातो काटे। २
दुनिया उल्टी रीत चलावे।
ज्याने ज़रा सरम नहीं आवे। २


अरे पत्थर को नाग बनावे।
ज्याके दूध पतासा चढ़ावे। २
असली साप जद घर में आवे।
वाके होटो पटक मरवावे। २
दुनिया उल्टी रीत चलावे।
ज्याने ज़रा सरम नहीं आवे।


गारा की गणगौर बनावे।
वीके सोळा सिंगार करावे। २
गणगौर कई मुख से बोले।
वीने तालाब माई बदरावे। २
दुनिया उल्टी रीत चलावे।
ज्याने ज़रा सरम नहीं आवे।


माँ बापा से मुख नहीं बोले।
पचे दौड़ गंगा जी में जावे। २
वटे फर फर मातो मुंडावे।
घरे १०० मण शक्कर गलावे। २
दुनिया उल्टी रीत चलावे।
ज्याने ज़रा सरम नहीं आवे


घर की खांड गरकरी लागे।
ग़ुल गाड़िया को मिठो लागे। २
कालूराम जी भजन बनावे।
पछे पोल में ढोल बाजे। २
दुनिया उल्टी रीत चलावे।
ज्याने ज़रा सरम नहीं आवे


Duniya Ulti Rit Chalave New Rajasthani bhajan Hindi Text Lyrics, Heera Lal Rav Bhajan Text Lyrics

!! Duniya Ulti Rit Chalave !!

duniya ultee reet chalaave.
jyaane zara saram nahin aave. 2


are maata jee su , beto maange.
ye to ek bakara ke saage. 2
apana beta ne laad ladaave.
tuja ko maato kaate. 2
duniya ultee reet chalaave.
jyaane zara saram nahin aave. 2


are patthar ko naag banaave.
jyaake doodh pataasa chadhaave. 2
asalee saap jad ghar mein aave.
vaake hoto patak maravaave. 2
duniya ultee reet chalaave.
jyaane zara saram nahin aave.


gaara kee ganagaur banaave.
veeke sola singaar karaave. 2
ganagaur kaee mukh se bole.
veene taalaab maee badaraave. 2
duniya ultee reet chalaave.
jyaane zara saram nahin aave.


maan baapa se mukh nahin bole.
pache daud ganga jee mein jaave. 2
vate phar phar maato mundaave.
ghare 100 man shakkar galaave. 2
duniya ultee reet chalaave.
jyaane zara saram nahin aave


ghar kee khaand garakaree laage.
gul gaadiya ko mitho laage. 2
kaalooraam jee bhajan banaave.
pachhe pol mein dhol baaje. 2
duniya ultee reet chalaave.
jyaane zara saram nahin aave


Duniya Ulti Rit Chalave New Rajasthani bhajan Hindi Text Lyrics, Heera Lal Rav Bhajan Text Lyrics

!! दुनिया उल्टी रीत चलावे !!

दुनिया उल्टी रीत चलावे।ज्याने ज़रा सरम नहीं आवे। २

अरे माता जी सु , बेटो मांगे। ये तो एक बकरा के सागे। २
अपना बेटा ने लाड लड़ावे। तुजा को मातो काटे। २
दुनिया उल्टी रीत चलावे। ज्याने ज़रा सरम नहीं आवे। २

अरे पत्थर को नाग बनावे। ज्याके दूध पतासा चढ़ावे। २
असली साप जद घर में आवे। वाके होटो पटक मरवावे। २
दुनिया उल्टी रीत चलावे। ज्याने ज़रा सरम नहीं आवे।

गारा की गणगौर बनावे। वीके सोळा सिंगार करावे। २
गणगौर कई मुख से बोले। वीने तालाब माई बदरावे। २
दुनिया उल्टी रीत चलावे। ज्याने ज़रा सरम नहीं आवे।

माँ बापा से मुख नहीं बोले। पचे दौड़ गंगा जी में जावे। २
वटे फर फर मातो मुंडावे। घरे १०० मण शक्कर गलावे। २
दुनिया उल्टी रीत चलावे। ज्याने ज़रा सरम नहीं आवे

घर की खांड गरकरी लागे। ग़ुल गाड़िया को मिठो लागे। २
कालूराम जी भजन बनावे। पछे पोल में ढोल बाजे। २
दुनिया उल्टी रीत चलावे।ज्याने ज़रा सरम नहीं आवे

heera lal rao ke bhajan

भजन :- दुनिया उलटी रीत चलावे
गायक :- हीरा लाल राव
लेबल :- राजस्थानी भजन
पिछला लेखमेरा भोला है भंडारी करे नंदी की सवारी भजन लिरिक्स | mera bhola hai bhandari Kare Nandi Ki Savari bhajan lyrics
अगला लेखमेरी लगी श्याम संग प्रीत लिरिक्स | Meri Lagi Shyam Sang Preet bhajan lyrics

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

5 + 2 =