मेवाड़ प्यारो लागे जी भजन लिरिक्स | Mewar Pyaro Lage Ji New Rajasthani Bhajan Lyrics text,

1050

मेवाड़ प्यारो लागे जी भजन लिरिक्स

मेवाड़ प्यारो लागे जी भजन mewar pyaro lage ji bhajan ,mewadi bhajan, rajputi bhajan

।।  दोहा ।। 
ऐसी पावन धरा यहाँ की, कर देती सबका उद्धार।
हर दिन एक नया उत्सव, होता है हर दिन त्यौहार।


~ मेवाड़ प्यारो लागे ~ 

मेवाड़ प्यारो लागे जी ओ ,
ओ माने मीरा बाई को देश
मेवाड़ प्यारो लागे जी।


पूर्व दिशा में बूंदी रे कोटा , 
अन्न पानी का है नहीं टोटा। 
बेगू बिजोलिया मांडलगढ़ कोटा ,
ऊपर माल की रे  सेल। 
अरे डिग्गी पूरी सी श्याम सिंगोली ,
जोगणिया री मेर । २ 
मेवाड़ प्यारो लागे जी ओ ,
ओ माने मीरा बाई को देश
 मेवाड़ प्यारो लागे जी। २


दक्षिण दिशा में सेठ सांवरा , 
भेरू भदेशर अम्बे आवरा। 
शनि जातला   मात रावला , 
वाको गढ़ चित्तोड़। 
अरे गढ़ किला पर बेटी रे कालका,
सूरारी  सिर मोर। २ 
मेवाड़ प्यारो लागे जी ओ ,
ओ माने मीरा बाई को देश
 मेवाड़ प्यारो लागे जी।


पश्चिम दिशा में बाजे रे चंडी , 
कामली घाट घाटा की जंडी। 
फतहनगर गंगापुर मंडी ,
बीके  मोकला रे माल। 
अरे फरारा महादेव,
 रामेश्वर राजसमंद  पाल। २ 
मेवाड़ प्यारो लागे जी ओ ,
ओ माने मीरा बाई को देश
 मेवाड़ प्यारो लागे जी।


कांकरोली और नाथद्वारा ,
केशरिया केसर का क्यारा। 
एकलिंग एकलिंग पहाड़ा में प्यारा ,
चारभुजा गढ़बोर। 
अरे हल्दी रे घाटी जिणा मंगरा ,
मीठा बोले मोर। २ 
मेवाड़ प्यारो लागे जी ओ ,
ओ माने मीरा बाई को देश
 मेवाड़ प्यारो लागे जी।


गांव उदयपुर सेर सैलानी ,
गोमती की भोम रेलाणी। 
पिछोलिया मोटी मंगरी सोहानी ,
बाघा छटा रलयाणी। 
अरे चिरवा को घाटों गजब को ,
मंगरा री हरयाली। २ 
मेवाड़ प्यारो लागे जी ओ ,
ओ माने मीरा बाई को देश
 मेवाड़ प्यारो लागे जी।

Mewar Pyaro Lave Ji new Rajasthani Hindi Bhajan Lyrics

!! Mewad Pyaro Lave Ji !!

mevaad pyaaro laage jee o ,
o maane meera baee ko desh
mevaad pyaaro laage jee.


poorv disha mein boondee re kota ,
ann paanee ka hai nahin tota.
begoo bijoliya maandalagadh kota ,
oopar maal kee re sel.
are diggee pooree see shyaam singolee ,
joganiya ree mer . 2
mevaad pyaaro laage jee o ,
o maane meera baee ko desh
mevaad pyaaro laage jee. 2


dakshin disha mein seth saanvara ,
bheroo bhadeshar ambe aavara.
shani jaatala maat raavala ,
vaako gadh chittod.
are gadh kila par betee re kaalaka,
sooraaree sir mor. 2
mevaad pyaaro laage jee o ,
o maane meera baee ko desh
mevaad pyaaro laage jee.


pashchim disha mein baaje re chandee ,
kaamalee ghaat ghaata kee jandee.
phatahanagar gangaapur mandee ,
beeke mokala re maal.
are pharaara mahaadev,
raameshvar raajasamand paal. 2
mevaad pyaaro laage jee o ,
o maane meera baee ko desh
mevaad pyaaro laage jee.


kaankarolee aur naathadvaara ,
keshariya kesar ka kyaara.
ekaling ekaling pahaada mein pyaara ,
chaarabhuja gadhabor.
are haldee re ghaatee jina mangara ,
meetha bole mor. 2
mevaad pyaaro laage jee o ,
o maane meera baee ko desh
mevaad pyaaro laage jee.


gaanv udayapur ser sailaanee ,
gomatee kee bhom relaanee.
pichholiya motee mangaree sohaanee ,
baagha chhata ralayaanee.
are chirava ko ghaaton gajab ko ,
mangara ree harayaalee. 2
mevaad pyaaro laage jee o ,
o maane meera baee ko desh
mevaad pyaaro laage jee

Mewar Pyaro Lage Ji new Rajasthani Hindi Bhajan Lyrics

।। मेवाड़ प्यारो लागे ।। 

मेवाड़ प्यारो लागे जी ओ ,
ओ माने मीरा बाई को देश मेवाड़ प्यारो लागे जी।

पूर्व दिशा में बूंदी रे कोटा ,अन्न पानी का है नहीं टोटा।
बेगू बिजोलिया मांडलगढ़ कोटा ,ऊपर माल की रे  सेल।
अरे डिग्गी पूरी सी श्याम सिंगोली ,जोगणिया री मेर । २
मेवाड़ प्यारो लागे जी ओ ,
ओ माने मीरा बाई को देश मेवाड़ प्यारो लागे जी। २

दक्षिण दिशा में सेठ सांवरा ,भेरू भदेशर अम्बे आवरा।
शनि जातला   मात रावला ,वाको गढ़ चित्तोड़।
अरे गढ़ किला पर बेटी रे कालका,सूरारी  सिर मोर। २
मेवाड़ प्यारो लागे जी ओ ,
ओ माने मीरा बाई को देश मेवाड़ प्यारो लागे जी।

पश्चिम दिशा में बाजे रे चंडी ,कामली घाट घाटा की जंडी।
फतहनगर गंगापुर मंडी ,बीके  मोकला रे माल।
अरे फरारा महादेव,रामेश्वर राजसमंद  पाल। २
मेवाड़ प्यारो लागे जी ओ ,
ओ माने मीरा बाई को देश मेवाड़ प्यारो लागे जी।

कांकरोली और नाथद्वारा ,केशरिया केसर का क्यारा।
एकलिंग एकलिंग पहाड़ा में प्यारा ,चारभुजा गढ़बोर।
अरे हल्दी रे घाटी जिणा मंगरा ,मीठा बोले मोर। २
मेवाड़ प्यारो लागे जी ओ ,
ओ माने मीरा बाई को देश मेवाड़ प्यारो लागे जी।

गांव उदयपुर सेर सैलानी ,गोमती की भोम रेलाणी।
पिछोलिया मोटी मंगरी सोहानी ,बाघा छटा रलयाणी।
अरे चिरवा को घाटों गजब को ,मंगरा री हरयाली। २
मेवाड़ प्यारो लागे जी ओ ,
ओ माने मीरा बाई को देश मेवाड़ प्यारो लागे जी। 

mewar ke bhajan

भजन :- मेवाड़ प्यारो लागे जी
गायक :- कुटल खान
लेबल :- राजस्थानी भजन
पिछला लेखगुरु शब्द पहचान जगत में भजन लिरिक्स | Guru sabad pahechan jagat me bhajan bhajan lyrics
अगला लेखरात सूती ने सपनो आयो लिरिक्स | raat suti ne sapno aayo sonu sisodiya ke bhajan

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

one × 2 =